तडपती चूत, मचलता लंड

Tadapti chut, machalta lund:

Antarvasna, hindi sex kahani मुझे एक कॉल आया वह कहने लगी हेलो मिस्टर विराज मैं रेखा बोल रही हूं मैंने जवाब दिया मैंने आपको पहचाना नहीं तो रेखा ने अपने मधुर स्वर में मुझे कहा सर मैं एलआईसी की एजेंट हूं क्या मैं आपसे कुछ देर के लिए मुलाकात कर सकती हूं मेरे पास आप के लिए बड़ा ही अच्छा पैकेज है। मैंने फिलहाल तो रेखा को टालते हुए कहा आप मुझे अगले हफ्ते फोन कीजिएगा अभी मैं अपने काम में बिजी हूं। उस वक्त मैं अपने ऑफिस में बैठा हुआ था क्योंकि फिलहाल मेरा ऐसा कोई मन नहीं था लेकिन उसके बाद भी मुझे रेखा का फोन आता रहा मैं उसे करीब एक महीने तक कहता रहा कि मेरे पास अभी समय नहीं है लेकिन आखिरकार उसने भी अपने अनुभव से मुझे जीत लिया। वह मुझसे मिलने में कामयाब रही मैंने भी सोचा चलो 10 मिनट की मुलाकात रेखा से कर ही लेता हूं।

मैंने रेखा को कभी देखा नहीं था लेकिन उसकी आवाज से मुझे ऐसा प्रतीत होता था कि जैसे वह दिखने में भी अपनी मधुर आवाज की तरह सुंदर होगी। मैं उस वक्त अपने ऑफिस में बैठा हुआ था मेरे पास एक गुलाबी रंग के सूट में एक 30 वर्ष की महिला आई उसने अपना हाथ आगे बढ़ाते हुए मुझे कहा हेलो सर मैं रेखा हूं। वह मेरे केबिन के अंदर दाखिल हो चुकी थी मैंने उसे बैठने के लिए कहा उस की मधुर आवाज से मुझे एक सुखद सा एहसास हो रहा था और उसके चेहरे से मेरी आंख हट ही नहीं रही थी। मैंने अपने चश्मे को संभालते हुए उसे कहा हां रेखा जी कहिए आप क्या कहना चाहते हो वह मुझे कहने लगी मुझे आपको एक आप के मतलब का प्लान देना था। वह अपने मुलायम और सिल्की बालों को अपने हाथों से बार-बार पीछे कर रही थी तो उसकी मुस्कान भी जैसे एक अलग ही जादू कर रही थी। उसने मुझसे बड़ी शालीनता से पूछा सर क्या आपकी शादी हो चुकी है तो मैंने रेखा को बताया हां मेरी शादी को हुए तो 8 वर्ष हो चुके हैं। रेखा ने बड़ी ही चालाकी से मेरी इस बात को अपने जहन में बैठा लिया और उसी के तहत उसने मुझे अपना एलआईसी का प्लान समझाना शुरू किया।

जिस प्रकार से वह मुझे समझा रही थी उससे मैं उसकी बात बड़े ध्यान से सुन रहा था वह मेरी नजरों से हट ही नहीं रही थी मैं सिर्फ उसकी तरफ ही देखे जा रहा था। रेखा में कुछ तो ऐसी बात थी कि उसने मुझे अपनी ओर आकर्षित कर लिया था और अपने प्लान को समझाने में भी वह कामयाब हो चुकी थी और आखिरकार मैंने रेखा से प्लान खरीद लिया। रेखा मुझे एलआईसी का अपना प्लान बेचने में कामयाब हो चुकी थी अब वह मुझसे मेरे पर्सनल जिंदगी के बारे में पूछने लगी। उसने मुझे कहा सर लेकिन लगता नहीं है कि आपकी शादी को 8 वर्ष हो चुके हैं मैंने रेखा से कहा सब लोग यही कहते हैं। शायद इसमें भी रेखा की कोई चालाकी थी लेकिन मैंने भी रेखा के साथ अब मजाक करना शुरू कर दिया था। मैंने उसे मजाकिया अंदाज में कहा कि आप भी लगती नहीं है कि आपकी उम्र इतनी ज्यादा है उसने भी अपनी नजरों को झुकाते हुए अपने बालों को अपने हाथों से पीछे किया तो मैं रेखा की तरफ देखे जा रहा था। उसने मेरी तारीफों के पुल बांध दिए थे और कहने लगी मिस्टर विराज आपकी पर्सनैलिटी तो बड़ी गजब की है मेरी जैसी लड़कियां तो आप जैसे पर तुरंत ही फिदा हो जाए। जब उसने यह बात कही तो एक पल को तो मुझे भी लगा कि मैं रेखा से शादी कर लूं लेकिन फिर मुझे अपनी पत्नी का ध्यान आया और मैंने रेखा को मुस्कुराते हुए कहा यदि आप मुझे पहले मिली होती तो शायद मैं आपसे अब तक शादी कर चुका होता। रेखा कहने लगी सर आप बड़ी अच्छी बातें करते हैं। वह अपने मकसद में कामयाब हो चुकी थी और उसने मुझे अपने एलआईसी का प्लान भी बेच दिया था जिसके बाद अब आगे की प्रक्रिया शुरू होनी थी। मैंने रेखा से कहा आप मेरे पास दो दिन बाद आइएगा मैं आपको चेक के द्वारा पेमेंट कर देता हूं तो रेखा कहने लगी ठीक है सर जैसा आपको ठीक लगे। यह कहती हुई वह मेरे ऑफिस से चली गई रेखा ने मुझसे सिर्फ 10 मिनट मिलने की बात कही थी लेकिन मुझे करीब रेखा के साथ बैठे हुए डेड घंटे से ऊपर हो चुका था।

मैंने जब घड़ी की सुई देखी तो मुझे अपने काम से उस दिन कहीं जाना था मैंने जल्दी से अपने ड्राइवर को कहा गाड़ी स्टार्ट करो और मुझे तुम अभी मुकुल जी के ऑफिस ले चलो। मुकुल जी के द्वारा मुझे कई बार सरकारी टेंडर मिल जाया करता था जिस वजह से मैं उनसे महीने में एक दो बार मुलाकात तो कर ही लिया करता था। मैं मुकुल जी के पास चला गया और जब मैं मुकुल जी से मिला तो वह मुझे कहने लगे अरे विराज जी आज काफी समय बाद आप आए हैं। मैंने उन्हें कहा हां सर बस बीच में अपने काम में ही उलझा हुआ था इसलिए यहां आने का मौका ना मिल सका मुझे मुकुल जी कहने लगे चलिए कोई बात नहीं और सुनाइए घर में सब कुशल मंगल है। मैंने उन्हें कहा हां मुकुल जी घर में तो सब बढ़िया है आप सुनाइए भाभी और बच्चे कहां हैं वह कहने लगे तुम्हारी भाभी तो आजकल अपने मायके लखनऊ गई हुई हैं। अब हम दोनों काम की बात पर आए तो वह कहने लगे कुछ समय बाद एक सरकारी टेंडर निकलने वाला है उसके लिए आप तैयार रहना वह काफी बड़ा टेंडर है और पैसों का भी बंदोबस्त करवा दीजिएगा। मैंने मुकुल जी से कहा हां साहब आप पैसों की चिंता ना कीजिए मैं सारा बंदोबस्त करवा दूंगा यदि मुझे वह टेंडर मिल गया तो भाभी और आपको भी मैं विदेश की सैर करवा दूंगा।

मुकुल जी कहने लगे जरूर आप को ही वह टेंडर मिलेगा, मुकुल जी एक अच्छे वयक्ति है इसलिए उनकी बात को कोई भी टाल नहीं सकता था। कुछ ही समय बाद वह टेंडर भी निकला और आखिरकार मुझे ही वह टेंडर मिला मुकुल जी की सिफारिश की वजह से मुझे वह टेंडर मिल चुका था। मैंने मुकुल जी और उनके परिवार को दुबई घुमाने की बात कही तो वह खुश हो गए मैंने सारा बंदोबस्त अपनी तरफ से ही करवा दिया था जिससे कि मुकुल जी और उनका परिवार घूमने के लिए निकल चुका था। इसी बीच मुझे रेखा का भी फोन आया मैं रेखा का फोन नहीं उठा पाया था क्योंकि मैं अपने टेंडर के चक्कर में थोड़ा बिजी था जब रेखा ने मुझे फोन किया तो वह मुझे कहने लगी सर आपने चेक की बात की थी तो क्या मैं आप से चेक लेने के लिए आ जाऊं। मैंने रेखा से कहा हां क्यों नहीं तुम आ जाओ मैंने उसे अपने दफ्तर में बुला लिया वह जब मेरे दफ्तर में आई तो वह मुझसे कहने लगी सर लगता है आप अपने काम में कहीं बिजी थे। मैंने उसे बताया हां मैं बिजी था इसलिए मैं तुम्हें मिल ना सका रेखा ने अपने मधुर स्वर में मुझे कहा कोई बात नहीं सर मैं समझ सकती हूं काम भी तो देखना पड़ता है। वह मुझसे बात कर रही थी मैंने उसे अपनी चेक बुक से चेक देते हुए कहा कि यह लीजिये चेक। मेरे चेक देते ही रेखा के चेहरे पर एक हल्की सी मुस्कान आ गई। मैं और रेखा एक दूसरे की तरफ देख रहे थे मेरी नजरे सिर्फ रेखा पर थी। उसने मेरे दिए हुए चेक को अपनी फाइल के अंदर रखा और कहने लगी अभी मैं चलती हूं। मैंने रेखा से कहा आप तो बड़ी जल्दी में लग रही हैं तो रेखा कहने लगी मुझे आज कुछ और लोगों से मुलाकात करनी है इसलिए अभी मैं चलती हूं। मैंने रेखा से कहा तो क्या आप मुझे दोबारा नहीं मिलेगी? रेखा कहने लगी अरे मिस्टर विराज आप कैसी बात कर रहे हैं मैं आपको क्यों दोबारा नहीं मिलूंगी मैं आपसे मुलाकात करूंगी लेकिन अभी मुझे जाना है।

रेखा जाने की जिद करने लगी मैंने उसे कहा ठीक है आप चले जाइए लेकिन कुछ दिनों बाद मुझे रेखा का फोन आया। उसके मधुर स्वर मेरे दिमाग में अब भी बैठ चुके थे मैं उसकी आवाज सुनकर उसकी तरफ मोहित होता चला जाता हूं। मैंने रेखा से कहा क्या आप मुझसे मिल सकती हैं तो रेखा मुझसे मिलने के लिए ऑफिस में ही आ गई। रेखा कहने लगी मिस्टर विराज आपने मुझे आज अपने ऑफिस में ही बुला लिया। मैंने रेखा से कहा बस ऐसे ही तुमसे मिलने का मन था तो सोचा तुम्हें अपने दफ्तर में ही बुला लूं। वह मेरे केबिन में लगे सोफे पर बैठकर मुझे कहने लगी आप यहीं बैठ जाइए ना। मैं रेखा के पास जाकर बैठ गया मैंने उससे बात करनी शुरू की मेरी नजर उसके गोरे स्तनों पर पड रही थी आखिरकार मैंने उसके स्तनों पर हाथ लगा दिया। वह भी जैसे मेरे लिए तड़प रही थी उसने मेरी तारीफ के पुल बांधने शुरू किए मैंने उसे सोफे पर लेटा कर उसके नरम होठों को चूमना शुरू किया। मैंने उसे कहा मैं आपसे कुछ चाहता हूं तो वह भी मना ना कर सके और कहने लगी आपको जो लेना है ले लीजिए।

मैंने उसके बदन से कपड़े उतार फेंके मैंने उसे पूरी तरीके से नंगा कर दिया था अब वह मेरे लिए तड़पने लगी थी। जब मैंने अपने मोटे लंड को बाहर निकाला तो वह मेरे लंड को देखकर कहने लगी आपका लंड तो बड़ा मोटा है मैंने उसे कहा तुम्हें बहुत अच्छा लगेगा। मैंने जैसे ही उसकी योनि के अंदर अपने लंड को प्रवेश करवाया तो वह मेरी तरफ देखते रही मैंने उसे अपने नीचे लेटा कर काफी तेजी से धक्के देने शुरू कर दिए थे। उसकी नजरें सिर्फ मेरी आंखों पर थी वह मेरी आंखो मे ध्यान से देख रही थी मैंने उसके स्तनों को अपने मुंह में लेकर चूसना शुरू किया तो उसे बड़ा अच्छा लग रहा था और मुझे भी बहुत आनंद आ रहा था। काफी देर तक मैंने रेखा के नरम और मुलायम स्तनों का रसपान किया जिससे की उसके स्तनों से भी दूध निकल आया था उसकी योनि से गर्म पानी कुछ ज्यादा ही बाहर निकल रहा था। वह अब पूरी तरीके से उत्तेजित हो चुकी थी वह अपनी अपने चरम सीमा पर थी कुछ ही क्षणो बाद वह झड़ गई उसने मुझे कहा मैं तो झड़ चुकी हूं। रेखा की योनि से कुछ ज्यादा ही गर्म पानी बाहर निकल रहा था मैं भी उसकी योनि को ज्यादा समय तक झेल ना सका और मेरा भी वीर्य पतन रेखा की योनि में हो गया। उसके बाद तो वह मुझसे मिलने चली आती थी।


Comments are closed.



Online porn video at mobile phone


desi sexy kahanimaa bete ki chudai in hindimari bhabibhabhi ko choda story hindisex story to read in hindimonika ko chodahindi sexy story chudaipapa ne bhai ki gand marimaa behan ko chodaantarvasna codesi hindi bade bade chuchi waali hindi kaamuk sex storychoot sexy storysexy bua ki chudaibehan bhai ki sexy storyrasili chut ki photosexy maa ko chodaschool me madam ko chodaMai aur meri pyari didi stories all bhagbur chodne ki hindi kahanibaap beti ki chudai ki kahani in hindikamini didi ki chudaichudai lambe lund sebhabhi k sath sexgaand chutmaa bete ki hindi sexy kahanichut ko chodaHindi me Incest family सेक्स pdf freenipple chusnaxxx chudai kahaniwhat is chudaividesi ki chudaividhwa bahu ki chudaividhwa bahu ki chudaicudai kahani hindischool teacher ki chudai videohindi saxy story in hindibhai ko jnmdin pe gift m dudu diyeNew seel pluck sex videos downloaddidi ki bur chudaibur chudai ki hindi kahanimaa beti ki chudai ki kahanikamasutra sex story in hindihindi sexy storyiorisa sex compremikar sathe choda chudikamukta.koml.babe.ke.cut.ke.sel.todechudai muslimdevar bhabhi sex storyhindi sex story photochut ki kahani hindi fontbadi gaand wali ladkipapa ko patayaincest sex story hindima ki chodai kahaniantarvasna shemalesex story in hindi by girlMare Bibi ke Holi sex hinde stories.inwife sex story hindibehan chudai commeri chudai ki hindi kahanibachpan ki sex storydesi choti chutsexy story written in hindiMajbur bahu antarvasna part8kamukta hindi videobhabhi ki chut me paniचुदकडdo chachi ki chudaisexi suhagratchudai ki mast kahaniya mp3gaand ka chedhot indian aunty fucking storiesdesi chudai ki kahanisote huye sexhindi desi chudai storykamuk kathasasurji ne bahu ko chodalatest bhabhi storysasur ne bahu ki chudai kifree hindi porn comicsbhabhi ko chudalund chut story in hindibhai bahan ki sex storychudai exbiihindi suhagrat chudaimaa ki chudai in hindi fontbahan ko maa banayasavita ki chodaipunjabi aunty ki chutsavita bhabhi chootmarathi chudai storybhai behan sexy storybhabhi ki gand chudai